परमान टाइम्स

न्यूज नेटवर्क

बीसवीं सदी के महान संत परमाराध्य सद्गुरु महर्षि मेंहीँ परमहंस जी महाराज की 138 वी’ पावन जयंती 15 मई को – डॉ बिजय

1 min read

मधेपुरा ।

बैसाख शुक्ल चतुर्दशी को देश विदेश में मनाई जाने वाली
बीसवीं सदी के महान संत परमाराध्य सद्गुरु महर्षि मेंहीँ परमहंस जी महाराज की 138 वी’ पावन जयंती समारोह, 15 मई को है । बता दें इसी मधेपुरा जिला के खोखशी श्याम गांव में में पूज्य गुरूदेव का अवतरण अपने ननिहाल के धरा धाम पर हुआ था ।उनका पैतृक गृह पूर्णियां जिला के धरहरा गांव में है ।कुप्पाघाट भागलपुर कठोर साधना कर वे परम प्रभु का साक्षात्कार अपने घट में किये ।उनका उपदेश है कि ईश्वर एक है और उसकी प्राप्ति जब कभी भी होगी अपने अन्दर होगी बाहर नहीं ।उनकी 138 वीं जयंती को लेकर सत्संग मन्दिरों में तैयारी तेज कर दी गई है ।मधेपुरा में जयंती को लेकर बड़े बड़े होर्डिंग लगाए गए हैं ।इधर शिक्षाविद
पी वी वर्ल्ड स्कूल मधेपुरा की प्राचार्या पूनम कुमारी नें कहा कि
हम सभी उनके बताए मार्ग पर चलें तो इहलोक और परलोक दोनों सुखमय होगा । पुर्व मुख्य पार्षद रहे . बिजय कुमार विमल नें कहा कि गुरूदेव महर्षि मेँहीं बाबा नें पंच पापों से बचने की सलाह दी है ।उनकी वाणी में है ” सत्संग नित अरु ध्यान नित,रहिये करत संलग्न हो ।व्यभिचार चोरी नशा हिंसा झूठ तजना चाहिए ।”
पूज्यपाद गुरूदेव के त्रयलोक पावन चरण कमलों में नमन एवं पुष्पांजलि समर्पित ।

You may have missed