August 17, 2022

परमान टाइम्स

न्यूज नेटवर्क

कोरोना टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के उद्देश्य से विशेष अभियान आज

1 min read

-जिले के सभी पंचायतों में कुल 355 स्थानों पर होंगे सत्र आयोजित, जरूरी तैयारियां पूरी

अररिया ।

जिले में कोरोना टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिये रविवार को फिर विशेष अभियान संचालित किया जायेगा। विशेष अभियान अब तक टीकाकरण मामले में जिले के प्रदर्शन में सुधार के लिहाज से बेहद उपयोगी साबित हुआ है। इसे देखते हुए संचालित अभियान की सफलता को लेकर सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली गयी है। विशेष अभियान के तहत 35 हजार से अधिक लाभुकों के टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित है। निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति को लेकर जिले के विभिन्न पंचायतों में 355 टीकाकरण सत्र संचालित किये जायेंगे। इसके लिये 355 टीकाकर्मी व इतने ही वेरिफायर प्रतिनियुक्त किये गये हैं। निर्धारित लक्ष्य प्राप्ति को लेकर शनिवार को डीडीसी मनोज कुमार की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में स्वास्थ्य अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिये गये।
डीआईओ डॉ मोईज ने प्रीकॉशन डोज व 12 से 14 साल के किशारों के टीकाकरण मामले में हमें सुधार करने की जरूरत है। 12 से 14 साल आयु वर्ग के महज 40 फीसदी लाभुक ही अब तक प्रथम डोज का टीका लिया है। इसी तरह 60 साल से अधिक आयु वर्ग के लाभुकों को प्रीकॉशन डोज मामले में हमारी उपलब्धि महज 24 फीसदी के करीब है। इसमें सुधार को लेकर विशेष प्रयास की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अभियान की सफलता को लेकर जरूरी सभी तैयारी की गयी है। अभियान के अनुश्रवण व निरीक्षण को लेकर प्रखंडवार वरीय स्वास्थ्य अधिकारियों की टीम निर्धारित की गयी है।

पल्स पोलियो अभियान के क्रम में संचालित दस्तक अभियान के क्रम में टीका के विभिन्न डोज से वंचित लाभुकों को चिह्नित किया गया है. इसमें 12 से 14 साल आयु वर्ग के 6, 995 लाभुक प्रथम व 6173 दूसरे डोज से वंचित किशोर चिह्नित किये गये हैं. उसी तरह 15 से 18 साल आयु वर्ग के 3, 194 प्रथम व 5757 दूसरे डोज से वंचित लाभुक चिह्नित हैं. डीपीएम स्वास्थ्य रेहान अशरफ ने जानकारी देते हुए कहा कि 18 साल से अधिक आयु वर्ग के 2357 प्रथम व 6048 द्वतिय डोज से वंचित लाभुक चिह्नित हैं. इसी आयु वर्ग के प्रीकॉशन डोज से वंचित 26, 107 लाभुक चिह्नित किये गये हैं. गौरतलब है कि निर्धारित लक्ष्य के मुताबिक विभिन्न आयु वर्ग व टीका के विभिन्न डोज से जिले के 4.43 लाख ड्यू लाभार्थी हैं।