स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की हुई समीक्षा:

कोविड-19 टीकाकरण एवं जांच में तेजी लाने के लिए दिया गया आवश्यक दिशा-निर्देश:
विगत तीन महीने की उपलब्धि को बरकरार रखने की जरूरत: एडीएम
स्वास्थ्य के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाने में कामयाब रहा कटिहार: प्रभारी जिलाधिकारी

कटिहार, 16 अगस्त।
ज़िले में स्वास्थ्य विभाग का कार्य सराहनीय है। इसके बावजूद अभी भी हमलोगों को कोरोना संक्रमण एवं कोरोना जांच सहित कई अन्य कार्यक्रमों को पहले से बेहतर बनाने को लेकर कार्य करने की आवश्यकता है। स्वास्थ्य विभाग के कार्यक्रमों एवं योजनाओं की समीक्षा के दौरान यह बात उभरी। इसका आयोजन समाहरणालय सभागार में किया गया। इसकी अध्यक्षता प्रभारी जिलाधिकारी सह वरीय अपर समाहर्ता अजय कुमार ने की। बैठक में  सिविल सर्जन डॉ डीएन झा, एसीएमओ डॉ कनक रंजन, जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम डॉ किशलय कुमार, डीएमएनई, डीसीएम, डीपीसी, एंसीडीओ, सीडीओ एवं जिले  के सभी एमओआईसी, बीएचएम, बीसीएम सहित कई अन्य अधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे।

विगत तीन महीने  की उपलब्धि को बरकरार रखने की जरूरत: एडीएम
प्रभारी जिलाधिकारी सह एडीएम विजय कुमार ने कहा कि जिले में गर्भवती महिलाओं की एएनसी जांच और प्रसव से संबंधित जटिल मामलों को चिह्नित करने की प्रक्रिया में तेजी आयी है। विगत तीन महीने के दौरान 25 हजार 679 लक्ष्य की प्राप्ति हुई है। संस्थागत प्रसव की बात की जाए तो 13 हजार 144 की प्राप्ति हुई है। जिसमें सबसे अधिक 4 हजार 321 शहरी स्वास्थ्य केंद्रों में संस्थागत प्रसव कराया गया है। मातृत्व-शिशु सुरक्षा से संबंधित कार्यक्रम को अधिक प्रभावी बनाने की रणनीति पर विचार किया गया। जिले में उपलब्ध कराई गई बाइक एम्बुलेंस के उपयोग से संबंधित समीक्षा की गई। यक्ष्मा (टीबी) रोगियों के संक्रमण को रोकने एवं उचित परामर्श के बाद उपचार करने से पहले उसकी जांच अनिवार्य रूप से करानी है। इस पर संचारी रोग पदाधिकारी को ध्यान देने की जरूरत है। ओपीडी में आने वाले मरीज़ों को नियत समय पर टीबी की जांच कराई जाए तो बीमारी पर रोक संभव है।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाने में कामयाब रहा कटिहार: प्रभारी जिलाधिकारी
बैठक की अध्यक्षता करते हुए एडीएम विजय कुमार ने कहा कि संक्रमण के इस दौर में निर्धारित मानकों के अनुरूप स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी हुई कई योजनाओं के क्रियान्वयन को शत प्रतिशत लागू करने में कटिहार ज़िला अग्रणी भूमिका निभा रहा है। इसके बावजूद पहले से और बेहतर करना है। उन्होंने कहा की वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण को जड़ से मिटाने के उद्देश्य से टीकाकरण कार्य नियमित रूप से सभी स्वास्थ्य केंद्र एवं टीकाकरण केंद्रों पर सुचारू रूप से संचालित किया जा रहा है। अभी हमलोगों को अन्य कार्यक्रमों एवं आयोजनों के माध्यम से सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने के लिए लगातार कार्य करने की आवश्यकता है।

कृपया पढ़ें  UP Corona vaccination: यूपी में कोरोना के 34 हजार से ज्यादा नए मामले आए, 1 मई से इन 7 जिलों में शुरू होगा वैक्सीनेशन