भव्य कलश यात्रा से दस दिनों तक चलने वाले मां दुर्गा की पूजा की हुई शुरुआत।

नरपतगंज/बबलू सिंह

नरपतगंज प्रखंड के भारत नेपाल सीमा से सटे घुरना बाजार स्थित सार्वजनिक दुर्गा मंदिर में अन्य वर्षों की भांति इस वर्ष भी दुर्गा पूजा काफी धूमधाम से की जा रही है। यहां के लोगों की मां दुर्गा में अपार श्रद्धा है। कहते है की इस मंदिर में आकर जो कोई सच्चे मन से कुछ मांगता है,मां उन सबकी मुराद पूरी करती है।
इसी कड़ी में आज सोमवार की सुबह मंदिर परिसर से शारदीय नवरात्रि के कलश स्थापना के शुभ अवसर पर सोमवार को 151 कुमारी कन्याओं द्वारा भव्य कलश यात्रा निकाली गई । रंग- बिरंगे परिधानों में सजधज कर कुमारी कन्याओं का हुजूम गाजे-बाजे के साथ सरसर नदी पहुंचा,जहां पंडित हीरा झा द्वारा संकल्प करने के बाद सुरसर कोसी नदी में जल भरकर दुर्गा मंदिर प्रांगण पहुंचा । इस कलश यात्रा से पूरे क्षेत्र का माहौल भक्तिमय हो गया । सभी के गले में लाल रंग की चुनरी व माथे पर “जय माता दी” की पट्टी के साथ जय माता दी ,जय मां शेरावाली ,मां भवानी ,जय बाबा भोलेनाथ के जयकारों के साथ सभी श्रद्धालुगण उत्साह से आगे बढ़ रहे थे l पंडित हीरा झा के द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ कलश को भगवती स्थल में स्थापित कर मां दुर्गा के प्रथम स्वरूप शैलपुत्री की पूजा पूरे विधि- विधान से की गई । श्रद्धालुओं ने कलश शोभा यात्रा के साथ कलश स्थापना व शैलपुत्री की पूजा में भी भाग लिया । इस कलश शोभा यात्रा में मंदिर के पुजारी हीरा झा, समिति के अध्यक्ष शंभू प्रसाद गुप्ता ,सचिव अरुण साह ,विनोद ठाकुर ,अनिल सोनी,दीपक गुप्ता, प्रमोद नाहर ,शोभानंदपाल ,केसर गुप्ता सत्येंद्र गुप्ता ,कमल कुमार गुप्ता ,के अलावा हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं शामिल हुए। कमेटी के अध्यक्ष शंभू प्रसाद गुप्ता ने बताया कि प्रत्येक वर्ष धूमधाम से मां भगवती की पूजा की जाती है,लेकिन 151 कुमारी कन्याओं द्वारा शोभा कलश यात्रा का अयोजन नवरात्रि में पहली बार की गई है,इसी कारण इस कलश शोभा यात्रा को देखने के लिए दूर-दूर से भक्त गण आए हैं ।

कृपया पढ़ें  बीएनएमयू में पीजी डिप्लोमा इन योग कोर्स शुरू होने की जगी उम्मीद