परमान टाइम्स

न्यूज नेटवर्क

पूर्णियाॅं पुलिस की महत्वपूर्ण उपलब्धि।  के0नगर थाना अन्तर्गत घटित लूट कांड का किया गया सफल उद्भेदन।

1 min read

अभिषेक मिश्रा पूर्णिया :

पूर्णियाॅं पुलिस की महत्वपूर्ण उपलब्धि।
 के0नगर थाना अन्तर्गत घटित लूट कांड का किया गया सफल
उद्भेदन।
 लूट कांड में संलिप्त दो अपराधकर्मी गिरफ्तार।
 वादी ही स्वयं निकला लूटेरा।
 घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल,लूटे गये रुपये, बैग एवं लूटे गये
मोबाईल फोन किया गया बरामद।

गिरफ्तार अभियुक्तों का नामः:-
1.रमेश कुमार(फाईनेंस कम्पनी का कर्मचारी) पिता-दिलिप यादव साकिन-चाॅंदी कटवा थाना-सदर(मुुफस्सिल) जिला-पूर्णियाॅं
2.विश्वजीत कुमार पिता-प्रदीप वीरधान साकिन-चाॅंदी कटवा थाना-सदर
(मुुफस्सिल) जिला-पूर्णियाॅं

 बरामदगीः-
1.घटना में प्रयुक्त संख्या-BR 11AG 7447 बरामद।
2.लूटे गये रुपये-20,500/- रुपये
3. लूटे गये बैग
4.घटना में प्रयुक्त मोबाईल फोन
प्राथमिकीः-
के0नगर थाना कांड संख्या-352/20,दि0-10.11.20,धारा-392 भा.द.वि.।
वादीः-
1.रमेश कुमार(फाईनेंस कम्पनी का कर्मचारी) पिता-दिलिप यादव साकिन-चाॅंदी कटवा थाना-सदर(मुुफस्सिल) जिला-पूर्णियाॅं

कांड का संक्षिप्त विवरणीः-
दिनांक-09.11.2020 को संध्या समय करीब 06ः10 बजे वादी 1.रमेश कुमार(फाईनेंस कम्पनी का कर्मचारी) द्वारा गोकुलपुर नहर से पूरब Blue रंग का Glamour मोटर साईकिल से सवार दो अज्ञात अपराधकर्मियों के द्वारा कलेक्शन किया हुआ 1,24,000/- हजार रुपये, रुपये से भरे बैग, वादी का मोबाईल फोन आदि लूट लेने के आरोप में अज्ञात लूटेरो के विरुद्व लूट का कांड अंकित कराया गया था।

प्राप्त सूचना के आलोक में श्री दया शंकर (भा0पु0से0),पुलिस अधीक्षक, पूर्णियाॅं के द्वारा कांड के सफल उद्भेदन,अभियुक्त की गिरफ्तारी तथा कांड में लूटे गये समान की बरामदगी हेतु श्री आनंद कुमार पाण्डेय, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सदर के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया, जिस टीम में पु.अ.नि. मिथलेश कुमार थानाध्यक्ष के0नगर, सदर(मुफस्सिल) थानाध्यक्ष आदि शामिल थे।
इस टीम के द्वारा वैज्ञानिक अनुसंधान एवं मानवीय सूत्रों के आधार पर घटना में संलिप्त अपराधकर्मी 1.विश्वजीत कुमार पिता-प्रदीप वीरधान साकिन-चाॅंदी कटवा थाना- सदर (मुुफस्सिल) जिला-पूर्णियाॅं को लूटे गये मोबाईल फोन के साथ उनके घर से पकड़ा गया तथा उसने स्वीकारोक्ति बयान में बताये कि घटना के एक दो दिन पूर्व ही घटना को अंजाम देने हेतु वादी के साथ योजना बनाई गई थी घटना के दिन वादी बनमनखी से रुपये वसूलने गये तथा लौटने के क्रम में अपने दोस्त विश्वजीत कुमार (अपराधी ) को सरसी बुलाकर रुपये वाला बैग एवं सारा समान एवं अपना मोबाईल को बंद कर दे दिये जिससे प्रतीत हो कि लूट की घटना को अज्ञात के द्वारा अंजाम दिया गया है।
साथ ही विश्वजीत कुमार रुपये से भरे बैग, वादी का फोन अपने पास एक दिन रखकर दूसरे दिन वादी को लूटे गये बैग एवं रुपये वापस कर दिये, झुठे लूट कांड दिखाने एवं रुपये गबन करने हेतु विश्वजीत को बदले में 10,000/- रुपये वादी द्वारा दिया । इस बीच दोनों दोस्त लूटी गई मोबाईल से एक दूसरे से लगातार बातचीत करने लगे। उक्त अपराधी के निशनदेही के आधार पर वादी-सह-अभियुक्त को उसके घर से लूटे गये 20,500/- रुपये नगद तथा कांड में लूटे गये बैग को वादी के बतायेनुसार बाॅंसवाड़ी से बरामद किया गया । इससे स्पष्ट होता है कि वादी ने 1,24,000/- हजाररुपये को गबन करने के नियत से 1,24,000/- रुपये गायब कर लूट कांड दर्ज कराया गया है।
गिरफ्तार अभियुक्तों द्वारा अपने स्वीकारोक्ति बयान में अपना दोष स्वीकार करते हुये घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल रुपये, फोन एवं अन्य समान को बरामद किया गया ।

कृपया पढ़ें  दिल्ली में '8 बजे तक' ही खुलेंगे ठेके, नए साल से पहले लगने लगीं लंबी लाइनें

विधिसम्मत कारवाई पूर्ण करते हुए अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

विज्ञापन
विज्ञापन