कोरोना टीकाकरण के लिये चिह्नित सत्र स्थलों का जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण

शेयर करें

– टीकाकरण सत्र स्थल पर उपलब्ध इंतजामों का लिया जायजा, स्वास्थ्य अधिकारियों को दिये जरूरी निर्देश
– गंभीर रोग से पीड़ित मरीज, 50 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग सहित गर्भवती व धात्री महिलाओं को नहीं लगाया जायेगा टीका

अररिया, 13 जनवरी / अमन कुमार

जिले में कोरोना टीकाकरण की प्रक्रिया 16 जनवरी से शुरू हो रही है| टीकाकरण को लेकर जिले में पांच सत्र स्थल का चयन किया गया है| इसमें सदर अस्पताल अररिया, अनुमंडल अस्पताल फारबिसगंज, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नरपतगंज, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भरगामा, मोहिनी देवी रूंगटा अस्पताल अररिया आरएस का नाम शामिल हैं |

टीकाकरण को लेकर चिह्नित सत्र स्थलों पर उपलब्ध इंतजाम का जायजा लेने के लिये बुधवार को जिलाधिकारी प्रशांत कुमार सीएच ने सदर अस्पताल अररिया व मोहिनी देवी रूंगटा अस्पताल का निरीक्षण किया| निरीक्षण के क्रम में उन्होंने टीकाकरण सत्र स्थलों को गंभीरता पूर्वक मुआयना किया|

साथ ही उन्होंने सत्र स्थल पर टीका लगाने के लिये पहुंचने वाले लाभुकों को हर तरह की जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने का निर्देश स्वास्थ्य अधिकारियों को दिया| मौके पर सिविल सर्जन डॉ रूपनारायण कुमार, एमओआईसी डॉ मोईज, डीपीएम स्वास्थ्य रेहान असरफ, पिरामल स्वास्थ्य के डीटीओ डॉ अफरोज, केयर इंडिया के डीटीएल पर्णा चक्रवती सहित विभिन्न डेवलपमेंट पार्टनर के प्रतिनिधि मौजूद थे|

टीकाकरण के दौरान निर्धारित मापदंड का रखा जायेगा ध्यान

डीएम ने निरीक्षण के क्रम में कहा कि जिले में कोरोना टीकाकरण को लेकर सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं | निर्धारित मापदंडों के आधार पर जिले में टीकाकरण 16 जनवरी से शुरू होना है|. प्रथम चरण में जिले के चिह्नित 9382 लोगों को टीकाकृत किया जाना है| इसमें सरकारी व निजी चिकित्सा संस्थानों में कार्यरत सभी कर्मियों के साथ-साथ आईसीडीएस के कर्मियों को शामिल किया गया है|

उन्होंने कहा कि टीकाकरण के लिये चिह्नित लाभुकों में स्वास्थ्य व आईसीडीएस के कुल 8618 कर्मी व निजी स्वास्थ्य संस्थानों के 746 लोगों को टीकाकृत किया जाना है| उन्होंने कहा कि दूसरे चरण में पुलिस, आर्मी के जवान, होम गार्ड के जवान, जेल व नगर परिषद के अधिकारियों व कर्मियों का टीकाकरण किया जाना है| प्रत्येक सत्र स्थल पर तीन कमरे चिह्नित किये गये हैं| इसमें पहले कमरे में प्रतिक्षालय, दूसरे में टीकाकरण व तीसरे में टीकाकरण के पश्चात 30 मिनट तक लोगों को मेडिकल सुपरविजन में रखा जायेगा|

पहले दिन 500 लोगों को टीकाकृत किये जाने का है लक्ष्य

टीकाकरण से संबंधित जानकारी देते हुए डीपीएम स्वास्थ्य ने कहा कि 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान का विधिवत शुभारंभ किया जाना है| इसमें सभी सेवा संवर्ग के कर्मियों की सहभागिता सुनिश्चित करायी जायेगी| सदर अस्पताल अररिया के टीकाकरण सत्र स्थल पर वेब कास्टिंग की सुविधा उपलब्ध रहेगी| प्रथम टीका के 28 दिन बाद टीकाकरण की दूसरी खुराक लाभुकों को दी जायेगी| इसकी पूर्व सूचना उन्हें उपलब्ध करायी जायेगी |

कोरोना टीका के रख-रखाव से संबंधित इंतजाम की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना टीका के रख-रखाव के लिये जिले को 11 बड़े आकार का आईएलआर व 04 छोटा छोटा आईएलआर प्राप्त हुआ है| जिसे सभी चिह्नित चिकित्सा संस्थानों में भेज दिया गया है| टीका को दो डिग्री से आठ डिग्री तापमान के बीच रखा जाना है| टीकाकरण सत्र स्थल पर दो कोल्ड बॉक्स उपलब्ध रहेंगे| जिसमें वैक्सीन को पूरी सावधानी के साथ रखा जाना है| टीकाकरण के पहले दिन पांच सत्र स्थलों पर कुल 500 लाभुकों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है|

बुजुर्ग, बीमार व गर्भवती महिलाओं को नहीं लगाया जायेगा टीका
सिविल सर्जन डॉ रूपनारायण कुमार ने कहा कि टीकाकरण को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली हैं | उन्होंने कहा प्रथम चरण के टीकाकरण अभियान में 50 साल से अधिक उम्र के लोग, गंभीर रोग से ग्रसित मरीज, गर्भवती व धात्री महिलाओं को टीकाकरण की प्रक्रिया से दूर रखा जायेगा|

सत्र स्थल पर प्रतिनियुक्त सभी कर्मियों को पहचान पत्र उपलब्ध कराये जायेंगे| टीकाकरण के बाद सभी लाभुकों को सत्र स्थल पर 30 मिनटों तक मेडिकल टीम के अवलोकन में रखा जायेगा|

विज्ञापन